पुलिस के बारे में लोगों की धारणा बनती-बिगड़ती रहती है. लॉकडाउन के दौरान भारतीय लोगों के बीच उनकी काफी हद तक एक नई छवि बनकर सामने है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए देश में लॉकडाउन का चौथा चरण शुरू हो चुका है. लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकल सकते हैं. इस कोरोनावायरस लॉकडाउन की सबसे ज्यादा मार झेल रहे प्रवासी मजदूर पैदल ही अपने घरों को निकल पड़े हैं.

जिले की SP बी से महिलाओं ने मांगी मदद

आंध्र प्रदेश के नेल्लूर जिले से ऐसी ही करीब 18 प्रवासी महिलाएं विजयनगरम जिले के लिए निकलीं. उनके पास खाने के लिए कुछ नहीं था और वे सब भूखी थीं. कोई उपाय न मिलने पर उन्होंने रात 12 बजे विजयनगरम जिले की एसपी बी राजा कुमारी को कॉल कर मदद मांगी. इस पर SP बी ने खुद अपने घर पर ही लेमन राइस बनाया और उन सभी महिलाओं के खाने का इंतजाम करने की कोशिश की. लोग राजा कुमारी के इस काम की खूब तारीफ कर रहे हैं.

SP ने की महिलाओं की इस तरह मदद

SP ने बताया कि रात 12 बजे उन्हें एक अनजान नंबर से एक महिला का कॉल आया. उस महिला ने कहा कि वह 2 दिन से सफर कर रही है. रास्ते में कुछ भी खाने को नहीं मिला और वह बहुत भूखी है. उस महिला ने SP को बताया कि वह चेक पोस्ट तक पहुंच चुकी है. यह सुनकर SP ने उसी समय अपने ऑफिसर्स को कॉल करके पूछा कि क्या इस समय कुछ खाने के लिए मिल सकता है? ऑफिसर्स ने बताया कि इतनी रात को तो खाने के लिए कुछ नहीं मिल पाएगा. लेकिन इसी के साथ ऑफिसर्स ने यह भी कहा कि इस समय वह खाने के लिए ब्रेड का अरेंजमेंट कर सकते हैं. SP ने कहा कि उस समय ब्रेड मिलना भी मुश्किल ही था. तब उन्होंने घर पर ही उन महिलाओं के लिए लेमन राइस बनाया और उसे चेकपोस्ट पर लेकर पहुंच गईं. लेकिन जब वह खाना लेकर चेक पोस्ट तक पहुंचीं, तो उन्होंने देखा कि सात महिलाएं वहां से जा चुकी हैं. उन्हें पता चला कि बाकी 11 महिलाओं को लेडी कॉलेज में बने क्वारंटीन सेंटर में ले जाया गया है और उन्हें वहां खाना खिलाया गया.

क्या कहा था गांव के व्यक्ति ने SP के लिए

SP ने उन महिलाओं से मिलकर उनसे अपने नंबर के बारे में भी पूछा कि उन्हें उनका नंबर कैसे मिला. तब उन महिलाओं ने बताया कि गांव में ही एक व्यक्ति ने उन्हें यह फोन नंबर दिया था. नंबर देते हुए उस व्यक्ति ने महिलाओं से कहा था कि यदि कोई भी समस्या हो और मदद की जरूरत हो तो इस नंबर पर कॉल कर लेना. महिलाओं ने कहा कि वे सब बहुत भूखी थीं. इसलिए उन्होंने इस नंबर पर कॉल करके उनसे मदद मांगी. आपको बता दें कि एसपी बी राजा कुमारी ऐसे ही कई बार लोगों की मदद करने के लिए आगे आती रहीं हैं. जहां इस समय कई हजारों मजदूर पुलिस के डर से रात के अंधेरे में भी यात्रा करने के लिए मजबूर हैं. वहीं, लॉकडाउन शुरू होने के बाद राजा कुमारी जिले के कई प्रवासी मजदूरों को खाने के पैकेट कपड़े, चप्पल और अन्य जरूरी चीजें बंटवाकर उनकी सहायता कर चुकी हैं.