कोरबा. छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में छेड़खानी और रेप (Rape) का विरोध करने पर एक महिला को जिंदा जलाने का मामला सामने आया है. पीड़ि‍ता करीब 53 फिसदी तक झुलस गई है. पुलिस ने मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. कोरबा जिले के बांगो थाना के मोरगा पुलिस चौकी क्षेत्र का यह मामला है. बांगो थाना प्रभारी ने घटना की पुष्टि की है. 28 वर्षीय पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है. प्राथमिक इलाज के बाद उसे गंभीर अवस्था में हायर सेंटर रेफर किया गया है.

कोरबा पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक, पोड़ी ब्लॉक के मोरगा पुलिस चौकी क्षेत्र में एक महिला को जिंदा जलाने की सूचना मिली थी. इस पर चौकी प्रभारी अशोक पांडेय घटना स्थल पर पहुंचे. वहां पता चला की बीते बुधवार की रात को पीड़िता के घर युवक पहुंचे और रेप की कोशिश और छेड़खानी करने लगे. पति और बच्चे के साथ रहने वाली पीड़िता वारदात के समय घर में अकेली थी. रेप का विरोध करने पर युवकों ने महिला पर मिट्टी का तेल डालकर उन्‍हें जिंदा जला दिया. महिला की आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुंचे और घटना की जानकारी पुलिस को दी. इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची. पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में लेकर जांच शुरू की.

तीन आरोपी गिरफ्तार
कोरबा के एसपी अभिषेक मीणा ने मीडिया से चर्चा में कहा कि मामले में जांच के बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. इनमें शरद मसीह, प्रीतम पैंकरा और सरोज कुमार शामिल है. शिवनारायण और एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है. महिला करीब 53 ​फीसदी जल गई है. उसका इलाज जारी है. पुलिस मामले को सेंसिटिव मानकर जांच कर रही है. आरोपियों की गिरफ‌तारी गुरुवार को लंबी पूछताछ के बाद की गई. उन्होंने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूल किया है.