उत्तर प्रदेश के मखिया योगी अदित्यनाथ से मिलने के लिए एक युवती ने सभी पुलिस कर्मियों को धक्का दे दिया। बता दें, सहारनपुर में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, सीएम योगी और डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा सहारनपुर में मां शाकंभरी देवी यूनिवर्सिटी का शिलान्यास कर रहे हैं। इस कार्यक्रम के दौरान मंच पर एक महिला ने चढ़ने की कोशिश की। उसका कहना था कि वह सीएम योगी आदित्यनाथ से मिलना चाहती है। जैसे ही महिला मंच की ओर बढ़ी, तैसे ही पुलिसकर्मियों ने उसे घेर लिया। शुरुआत में पुलिसकर्मियों ने उसे बहुत समझाने की कोशिश की, लेकिन महिला नहीं मानी।

महिला ने कई पुलिस वालों को दिया धक्का.....

आपको बता दें कि, जब महिला मंच पर जाने की कोशिश कर रही थी, तभी सामने मंच पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बैठे थे। मंच से ही कहा गया कि महिला को किनारे ले जाइए, मुख्यमंत्री इनसे एक घंटे में मुलाकात करेंगे। इस पूरे मामले में अधिकारी फिलहाल कुछ भी बोलने से बच रहे हैं और महिला की पहचान छिपाई जा रही है। इससे पहले पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के लोकार्पण कार्यक्रम के दौरान एक महिला ने पीएम नरेंद्र मोदी को काला झंडा दिखाया था।

इस महिला ने महकमे को दे दिया झटका..

इस महिला का नाम रीता यादव था। उसे पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। हालांकि बाद में दीवानी न्यायालय के एसीजेएम देवर्षि देव कुमार ने जमानत दे दी थी। सुल्तानपुर पुलिस के मुताबिक, संतोष यादव की पत्नी रीता यादव को अरवल कीरी करवत में पीएम नरेंद्र मोदी को काला झंडा दिखाने के आरोप में गिरफ्तार किया था। गोसाईंगंज पुलिस ने काला झंडा दिखाकर शांति व्यवस्था में बाधा डालने समेत अन्य अपराध दर्शाते हुए मुकदमा दर्ज किया था। रीता ने 'अखिलेश यादव' जिंदाबाद का नारा लगाया था।