उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की सख्ती से भूमाफियाओं की कमर टूट गई है. सीएम के निर्देश पर यूपी में भूमाफियाओं के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए सरकारी और निजी अरबों रुपए की कीमत की डेढ़ लाख एकड़ से ज्यादा भूमि खाली कराई गई है. यूपी सरकार का दावा है कि जुलाई तक प्रदेश में 41 भूमाफिया की संपत्ति कुर्क की गई है. इसके तहत 2 पर रासुका, 170 आरोपियों पर गैंगेस्टर और 399 आरोपियों के खिलाफ गुंडा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है और उनके 28 शस्त्र लाइसेंस निरस्त किए गए हैं. सरकार का दावा है कि इस कार्रवाई से 1.5 लाख एकड़ से ज्यादा की जमीन खाली कराई गई है.

 

 

सीएम योगी ने भूमाफियाओं के खिलाफ सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश

राजस्व विभाग के आंकड़ों के मुताबिक 15 अगस्त तक करीब 62423.89 हेक्टेयर यानि 1,54,249 एकड़ से अधिक भूमि को मुक्त कराया गया है. साथ ही राजस्व विभाग ने 2464 अतिक्रमणकारियों को चिह्नित करते हुए 187 भूमाफियाओं को जेल भेजा है और 22,992 राजस्व वाद, 857 सिविल वाद दर्ज करते हुए 4407 एफआईआर कराया है. जिले स्तर पर राजस्व विभाग और पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर भूमाफिया की कमर तोड़ने का काम किया है. इसके बावजूद हाल ही में सीएम योगी ने एक मामले का संज्ञान लेते हुए भूमाफियाओं के खिलाफ सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए थे.

 

 

 

मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद के अवैध साम्राज्य पर चला बुलडोजर

माफिया मुख्तार अंसारी और उसके सहयोगियों के खिलाफ जनवरी 2021 तक की गई कार्रवाई के तहत, सरकारी जमीन खाली कराने, ध्वस्तीकरण, जब्त संपत्ति की कीमत करीब 179 करोड़ रुपए आंकी गई है. इसी तरह पुलिस ने गैंगेस्टर एक्ट के तहत 127 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की है. इस समय मुख्तार अंसारी यूपी के बांदा जिले में बंद है, उस पर 50 से ज्यादा मुकदमें चल रहे हैं. इसी तरह यूपी पुलिस ने जनवरी 2021 तक अतीक अहमद और उसके सहयोगियों की आपराधिक गतिविधियों से बनाई गई 203 करोड़ रुपये से ज्यादा की अवैध संपत्ति को जब्त किया है. अतीक, उसके परिवारजनों और सहयोगियों के 31 संपत्तियों की जांच प्रवर्तन निदेशालय (ईडी), आयकर विभाग और ईओडब्ल्यू से कराई जा रही है. अतीक अहमद गुजरात के अहमदाबाद जिले में बंद है.

 

 

यूपी सरकार ने बनाया एंटी भूमाफिया पोर्टल

उत्तर प्रदेश सरकार ने भूमाफियाओं के खिलाफ बिना डर के लोग शिकायत कर सके. इसके लिए एंटी भूमाफिया पोर्टल भी बना रखा है. जहां कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत भूमाफिया के खिलाफ ऑनलाइन दर्ज करा सकता है. इसके लिए http://jansunwai.up.nic.in/ पर जाकर शिकायत दर्ज करानी होगी. सरकार ने इस संबंध में एक मई 2017 को आदेश भी निकाला था. जिससे सरकार के लिए ऐसे भूमिफायिओं की पहचान करना आसान हुआ है. साथ ही लोग स्थानीय स्तर पर भी शिकायत दर्ज करा सकते हैं. गाजियाबाद के एक बिल्डर के अनुसार भूमाफियाओं के खिलाफ कार्रवाई का असर काफी हुआ है. लोग धड़ल्ले से शिकायत कर रहे हैं. साथ ही एक बार शिकायत पहुंचने पर अधिकारियों का कार्रवाई करना भी जरूरी हो गया है. अपना उदाहरण बताते हुए वह कहते हैं “मैंने एक जमीन अपार्टमेंट बनाने के लिए खरीदी थी, उसकी किसी ने शिकायत कर दी कि भूमाफियों ने कब्जा कर ली है. उसके बाद मेरे पास अधिकारी पहुंच गए. इस तरह की कार्यवाही पहले नहीं होती थी. हालांकि बाद में जमीन सही पाई गई. पर इस तरह के एक्शन से भूमाफियाओं में डर जरूर फैलेगा “