यूपी के चंदौली में सपा विधायक और उनके समर्थकों द्वारा पुलिसकर्मियों से बदसलूकी मामले पर सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने समाजवादी पार्टी पर तगड़ा हमला बोला है. आजमगढ़ (Azamgarh) में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार के समय तो अराजकता ही उसका पर्याय हो चुका था. उस समय देश में एक नारा चल पड़ा था कि जिस गाड़ी मे सपा का झंडा समझो होगा कोई जानामाना गुंडा. इस गुंडागर्दी की कमर तोड़ने का कार्य कोई किया है तो वह हमारी सरकार ने किया है.

पहले की सरकारों में हुआ दलितों पर अत्याचार 

सीएम योगी ने कहा कि कुछ लोगों ने बाबा साहब भीमराव आंबेडकर के नाम पर राजनीति तो की लेकिन जब भी दलितों व गरीबों और दलितों की बात होती थी, उनपर अत्याचार होते थे तो वह मौन साध लेते थे. याद करिए जब सपा की सरकार थी तब रामपुर में उस समय समाजवादी पार्टी के नेता और मंत्री आजम खान द्वारा गरीबों व दलितों के घर उजाड़े जाते थे. उस वक्त कांग्रेस और बसपा मौन थी. तब केवल भारतीय जनता पार्टी आंदोलन कर रही थी क्योंकि वहां पर गरीबों व दलितो को उजाड़कर सत्ताधारी दल का एक मंत्री अराजकता पैदा कर रहा था. हमें यह स्वीकार नहीं था.

माफिआयों की संपत्ति पर चला बुलडोजर

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बीजेपी सरकार में माफियाओं की संपत्ति को जब्त किया गया है. जिन्होंने अवैध तरीके से कब्जा किया हुआ था, उनके खिलाफ कार्रवाई की और उनकी संपत्ति पर बुलडोजर चलवाया. लेकिन आप देखते होंगे जब भी किसी माफिया की अवैध संपत्ति पर बुलडोजर चलता है तो सबसे ज्यादा तकलीफ समाजवादी पार्टी, कांग्रेस और बीएसपी के लोगों को होती है. इन्हें इतना दुख क्यों होता है? इन तीनों पार्टियों को गरीबों से, गांव से, महिलाओं से और नौजवानों से कोई लेना-देना नहीं है. जब इनको मौका मिला इन्होंने अत्याचार किया, शोषण किया और अराजकता फैलाई.

माफियाओं की 1900 करोड़ की संपत्ति जब्त

उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों में गरीबों और व्यापारियों को डर लगता था कि माफिया पता नहीं किसकी संपत्ति पर कब्जा कर लें लेकिन अब ऐसा नहीं है. हमारी सरकार ऐसे माफियाओं से संपत्ति वापस लेने का काम कर रही है. 1900 करोड़ रुपये की माफियाओं की संपत्ति हम जब्त कर चुके हैं. माफियाओं की बिल्डिंगों पर बुलडोजर चलाने का काम भी किया है.

सीएम योगी ने कहा कि हमारी सरकार गरीब का भला सोचती है. साल 2022 की होली तक सभी को फ्री में राशन मिलेगा. एक नहीं महीने में दो-दो बार मिलेगा. उत्तर प्रदेश के 15 करोड़ लोगों को लाभ मिलेगा.