उत्तर प्रदेश के औरैया (Auraiya) जिले में कोतवाली क्षेत्र के बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर बुधवार तड़के बांदा के सर्राफा कारोबारी से लूटी गई चांदी कानपुर देहात (Kanpur Dehat) के भोगनीपुर एसएचओ (Bhognipur SHO) के कमरे से बरामद की गई है। औरैया और कानपुर देहात एसपी ने संयुक्त छापेमारी कर एसएचओ और एक दारोगा को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

सूत्रों ने बताया कि औरैया पुलिस ने टोल पर लगे कैमरे और सर्राफा कारोबारी के बयानों के आधार पर भोगनीपुर पुलिस तक खुलासे के लिए जाल बिछाया। बताया जा रहा है कि सर्राफा कारोबारी की रेकी कर वारदात को अंजाम दिया गया। सटीक जानकारी मिलने पर एसपी चारू निगम ने कानपुर देहात एसपी के साथ भोगनीपुर कोतवाल के कमरे में दबिश दी। इस दौरान पुलिस को चांदी से भरे थैले मिले।

इसके बाद मौके से ही इंस्पेक्टर अजय पाल सिंह और दारोगा चिंतन कौशिक को हिरासत में ले लिया गया है। मौके से करीब 52 किलो चांदी बरामद की गई है। एसपी चारु निगम ने बताया कि दोनों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। घटना में शामिल अन्य लोगों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, बांदा जिले के छोटी बाजार खिन्नी नाका निवासी मनीष सोनी उर्फ सागर पुत्र लक्ष्मी नारायन ने औरैया कोतवाली पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई। इसमें बताया था कि बुधवार की रात वह कार से अपने मामा के लड़के रवि सोनी, भाभी सोनाली सोनी व उनकी बेटी आशी के साथ बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे से औरैया आ रहे थे।

कार ड्राइवर जगनंदन पाल चला रहा था। रात करीब 2:20 बजे जैसे वह लोग बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे के किलोमीटर 244 व 245 के बीच पहुंचे, तभी वहां पहले से ही एक सफेद रंग की स्कॉर्पियो गाड़ी खड़ी थी। पास पहुंचने पर एक दारोगा वर्दी पहने युवक व एक सिपाही की वर्दी में खड़े युवक ने रोक लिया। उनके पास में दो सादे कपड़े पहने लोग भी खड़े थे।

जिनके पास पिस्टल व कार्बाइन जैसे हथियार थे। उनके कहने पर वह लोग कार से नीचे उतर गए। इसके बाद पुलिस की वर्दीधारी के साथ एक प्राइवेट व्यक्ति ने उनकी कार की तलाशी लेकर उसमें रखे दो चांदी के थैले और चालक को साथ लेकर भाग गए थे।